अक्सर होता है जब हम Office में होते हैं तब हमें अपना phone Vibrate/silent  mode पर रखना होता है लेकिन जब घर आ जाते हैं तो उसी phone को Ring mode पर लाना भूल जाते हैं और कई बार अधिकतर जरूरी call missed हो जाती हैं।  ऐसी में कई बार परेशानी का सामना भी करना पड़ सकता है। इससे बचने के लिए आप Google के ट्रस्टेड प्लेस (trusted) feature का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसकी मदद से आपके घर पहुंचते ही phone पर से Lock हट जाएगा। साथ ही वह Vibrate/silent से हटकर Ringtune mode में आ जाएगा। 

Phone में मौजूद ट्रस्टेड प्लेस को सेट करने के लिए पहले phone की Settings में जाएं, उसके बाद smart Lock के अंदर जाएं। phone के Search मेन्यू में जाकर सीधे smart Lock पर भी  Search करने से भी उस विकल्प में पहुंच सकते हैं। smart Lockl में जाने के लिए passward की जरूरत होगी, उसे type करने के बाद आपके सामने smart Lock के विकल्प आ जाएंगे। इसमें सबसे ऊपर ऑन बॉडी डिटेक्शनl है। दूसरे नंबर पर ट्रस्टेड प्लेसl नाम का विकल्प है। इसके बाद यूजर जिस Location पर अपना phone अनLock रखना चाहते हैं, उसे kएड ट्रस्टेड प्लेसl में जाकर शामिल कर सकते हैं। ध्यान रखें अगर आप घर की Location या Office की Location को शामिल करना चाहते हैं तो ध्यान रखें कि उस वक्त आप घर पर ही हों क्योंकि ट्रस्टेड प्लेस जीपीएस से वर्तमान Location लेता है। इसमें एक से ज्यादा Location को शामिल किया जा सकता है। उसके लिए एड प्लेस नाम के विकल्प पर Click करना होगा।

Office पहुंचते ही ऑन हो जाएगा vibrate mode 

दफ्तर में phone call आने पर तेज आवाज में बजने लगते हैं, जो कई बार परेशानी में डाल सकता है। इससे बचने के लिए आप Google Assistant के रूटीन feature का इस्तेमाल कर सकते हैं। रूटीन में यूजर अपनी जरूरत के मुताबिक बदलाव भी कर सकता है। 

ऐसे करें सेट 

इसके लिए सबसे पहले phone के सामने बोलें kहे Googlel ताकि वॉयस Assistant को सक्रिय किया जा सके। इसके बाद phone स्क्रीन में नीचे की ओर दाईं तरफ दिए गए Explorel विकल्प पर Click कर दें। इसके बाद दाईं तरफ ऊपर की ओर जीमेल पर लगी प्रोफाइल फोटो मिलेगी, उस पर Click करें। ऐसा करने से एक छोटी स्क्रीन खुलेगी, जिममें Settings नाम का विकल्प होगा, उस पर Click कर दें। इसमें your infol लिखा मिलेगा, उसी के पास Assistantl भी लिखा हुआ दिखाई देगा, जिसपर आपको Click करना है। Assistantl पर Click करने के बाद कुछ नए विकल्प स्क्रीन पर दिखना शुरू होंगे, उन विकल्पों में नीचे की तरफ स्क्रॉल करके जाने पर रूटीन नामक विकल्प दिखेगा। रूटीन में कुछ रेडी मेड विकल्प मिलेंगे, जो गुड मॉर्निंग, बेड टाइम लीविंग होम, आई होम और कम्यूटिंग टू वर्क जैसे विकल्प मिलेंगे।

 

Office जाते वक्त खुद ब खुद चलने लगेंगे गाने या न्यूज 

दफ्तर जा रहे हैं तो Google Assistant के kकम्यूटिंग टू वर्कk विकल्प आपके लिए उपयोगी साबित हो सकता है। इसके लिए phone पर हे Google के बाद kलेट्स गो टू वर्कl बोलना होगा, उसके बाद  phone पर आज के कैलेंजर संबंधी जानकारियां और मौसम की जानकारी मिलेगी, फिर संगीत या समाचार बजने लगेंगे। ध्यान रखें कि इसमें आप बदलाव कर सकते हैं। बदलाव करने के लिए पहले आपको रूटीन नाम के विकल्प के अंदर जाकर kकम्यूटिंग टू वर्कl वाले विकल्प पर Click करना होगा, उसके बाद नीचे नीले रंग में दिए गए विकल्प kएड एक्शनl पर Click करना होगा। ऐसा करने के बाद दो विकल्प मिलेंगे, जिसमें से ब्राउजर पॉप्यूलर एक्शन पर Click करना होगा। इसमें वॉल्यूम से लेकर अधिकतर Settings को कस्टमाइज किया जा सकता है। 

घर जाने से पहले अपने आप चला जाएगा मैसेज 

यूजर वापस घर जा रहा है और वह चाहता है कि इस बात की जानकारी वह अपने माता-पिता, भाई-बहन या फिर पत्नी को दे दे तो Google खुद-ब-खुद मैसेज कर देगा। इसके लिए आपको होम वाले रूटीन पर Click करने के बाद kएड एक्शनl पर जाना होगा, उसके बाद नीचे की तरफ कम्यूनिकेशन के विकल्प में यूजर को सेंड ए टेक्स्ट नाम का विकल्प दिखाई देगा, उसके सामने बने बॉक्स पर Click करना होगा ताकि वह नीला हो जाए और उसके बाद इसी बॉक्स के दूसरी तरफ Settings का आइकन होगा, उस पर Click करना होगा। ऐसा करने के बाद आपके सामने दो बॉक्स आएंगे, सबसे ऊपर वाले बॉक्स पर उस नंबर को डालना होगा, जिसे भेजना चाहते हैं और उसके बाद नीचे वाले बॉक्स में संदेश को type किया जा सकता है। 

Google Assistant क्या है 

Google Assistant को खासतौर से smartphone यूजर की सहूलियत के लिए तैयार किया गया है, जो सवालों के जवाब देता है। Google पर आप कुछ भी सवाल पूछते है तो वह 80 प्रतिशत जवाब सही ही देता है। Google Assistant से आप वॉइस कमांड देकर कुछ भी काम कर सकते है। चाहे आपको इंटरनेट पर कुछ भी Search करना हो आप कर सकते है।

2016 में लॉन्च किया गया था Google Assistant हे Google, जो तब Google होम का हिस्सा था
2017 में इसकी शुरुआत एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम वाले phone में भी हो गई थी